Thursday, February 29, 2024
Home उत्तराखंड उत्तराखंडः क्‍या अब पंजाब पर फोकस करेंगे हरीश रावत? 2022 में चुनाव...

उत्तराखंडः क्‍या अब पंजाब पर फोकस करेंगे हरीश रावत? 2022 में चुनाव लड़ने पर दे रहे गोल-मोल जवाब

हाल ही में जब हरीश रावत से पूछा गया कि 2022 में वह किस सीट से चुनाव लड़ेंगे? तो उन्होंने जवाब दिया चुनाव लड़ना नहीं, लड़वाना जरूरी है।

देहरादून। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री सीएम हरीश रावत सुर्खियों में रहना जानते हैं। हाल ही में जब उनसे पूछा गया कि 2022 में वह किस सीट से चुनाव लड़ेंगे? तो हरीश रावत ने फिर ऐसा जवाब दिया जिसके कई निहितार्थ निकाले जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव लड़ना नहीं, लड़वाना जरूरी है। अब सियासी पंडित इस बात पर मगज खपा रहे हैं कि क्या हरीश रावत का पूरा फ़ोकस अब पंजाब पर होगा। हालांकि उत्तराखंड में रावत से चाहत रखने वाले चाहते हैं कि वह अपना ध्यान उत्तराखंड में केंद्रित करें।

बयान के मायने 

साल 2017 में पूर्व सीएम हरीश रावत किच्छा और हरिद्वार ग्रामीण दो सीट से चुनाव लड़े थे और दोनों ही हार गए थे। ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यही है कि 2022 में हरीश रावत किस सीट से चुनाव लड़ेंगे और क्या उन्होंने कोई सीट तय की है? हालांकि हरीश रावत ने इस सवाल का सीधा जवाब देने के बजाय यह कह दिया कि चुनाव लड़ने से ज़रूरी, लड़वाना है।

राजनीति में बयानों के मायने निकाले जाते हैं और इस बार भी यही हो रहा है। तो क्या हरीश रावत का अब पूरा फ़ोकस पंजाब में चुनाव लड़वाने पर होगा? जहां कांग्रेस में सिर-फुटव्वल के बीच राष्ट्रीय नेतृत्व ने उन्हें प्रभारी बनाया है।

यहां हरदा की ही चाहत

पंजाब और उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव 2022 में होने हैं। ऐसे में दो राज्यों में ध्यान लगाना हरीश रावत के लिए आसान नहीं होगा लेकिन 2017 की हार के बाद भी कई कांग्रेस नेता ऐसे हैं जो चाहते हैं कि हरीश रावत ही पार्टी को लीड करें। पूर्व मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी का कहना है कि 2002 और 2012 में हरीश रावत सीएम नहीं बन पाए। लेकिन संगठन की ताकत हरदा ही थे। इसलिए 2022 में वो मेहनत की बात कर रहे हैं, मुख्यमंत्री बनने की नहीं।

हरीश रावत को हाई कमान ने पंजाब का प्रभारी बनाकर पार्टी में उनका कद भी बढ़ाया है और पद भी। साफ़ है कि पार्टी पंजाब में हरीश रावत के राजनीतिक अनुभव से फ़ायदा लेना चाहती है। ऐसे में सवाल है कि क्या उत्तराखंड में हरीश रावत अब संरक्षक बन कर रहेंगे, विधायक बनकर नहीं? क्योंकि वह खुद कह चुके हैं कि लड़ने से ज़्यादा ज़रूरी, चुनाव लड़वाना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

अनुपयोगी घाटियां व जमीनों में उगायी जाएगी मंडुआ, झंगोरा एवं चौलाई

सीएस ने क्षेत्र विस्तार की कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए देहरादून।  मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी ने मंडुआ, झंगोरा व चौलाई का उत्पादन बढ़ाने...

भाई के सिर पर सब्बल से हमला कर की हत्या, पिता को भी किया घायल, आरोपी गिरफ्तार

पंजाब। खन्ना के गांव पूनिया में छोटे भाई ने अपने बड़े भाई के सिर पर सब्बल (औजार) से हमला कर उसकी हत्या कर दी।...

उत्तराखंड पुलिस ने वाहनों के चालान से 43.52 करोड़ कमाए

सी.पी.यू ने 1.14 लाख व अन्य ने 7.28 लाख  चालान काटे काशीपुर। बीते साल 2023 में उत्तराखंड पुलिस ने 8 लाख 42 हजार वाहन चालान...

देश के ताकतवर हस्तियों की रेस में सीएम धामी ने लगाई लंबी छलांग

देश के सौ सबसे ताकतवर प्रमुख व्यक्तियों में सीएम धामी 61 वें पायदान पर देहरादून। लोकसभा चुनाव के दावेदारों के दिल्ली में जारी मंथन के...

उच्च शिक्षा में शोध, छात्रवृत्ति व निःशुल्क कोचिंग का मिलेगा अवसर

सरकार ने वर्ष 2024-25 के बजट में किया 7.64 करोड़ का प्रावधान देहरादून। सूबे की शिक्षा व्यवस्था में गुणात्मक सुधार के लिये सरकार ने बजट...

केआइएसएस मानवतावादी सम्मान से सम्मानित किए गए माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक बिल गेट्स

भुवनेश्वर। माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक तथा वैश्विक समाज सेवी, बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के सह-अध्यक्ष बिल गेट्स को उनके सामाजिक कार्यों के लिए...

उत्तराखण्ड के सात लोक कलाकारों को संगीत नाटक अकादमी पुरुस्कार

वर्ष 2022-23 के लिए संगीत नाटक अकादमी सम्मान की घोषणा देहरादून।  संगीत नाटक अकादमी ने अपने पुरस्कारों की घोषणा कर दी है। ये पुरस्कार राष्ट्रपति...

ऊनी कपड़े रखते समय जरूर रखें इन बातों का ध्यान, हमेशा दिखेंगे नए जैसे

जैसे ही सर्दियां खत्म होने वाली होती हैं, हम लोग अब अपने गर्म कपड़े, खासकर ऊनी कपड़े, संभाल कर रखने की सोचते हैं. ये...

पंचायतों के सशक्तिकरण के लिए पंचायत मंत्री ने सदन में प्रस्तुत किया संकल्प पत्र

महाराज ने कहा सबसे पहले पंचायतों को अपने विभागों का करेंगे स्थानांतरण देहरादून। पंचायतीराज मंत्री सतपाल महाराज ने सदन में भारत के संविधान की...

ट्रंप को हराना क्यों मुश्किल?

श्रुति व्यास डोनान्ड ट्रंप ने फिर साबित किया है कि वे अजेय हैं। 24 फरवरी को ट्रंप ने प्रतिस्पर्धी निकी हैली के गृहराज्य साऊथ केरोलाइना...